top of page

विश्व के शीर्ष वैज्ञानिकों की सूची में शामिल हुए बेल्हा के प्रोफेसर दिनेश विश्वकर्मा, जानिए पूरी खबर


विश्व के शीर्ष वैज्ञानिकों की सूची में तीसरी बार जगह बनाकर किया जिले का नाम रोशन, स्वजनों व रिश्तेदारों में खुशी की लहर


प्रतापगढ़ : प्रोफेसर दिनेश विश्वकर्मा ने विश्व के शीर्ष वैज्ञानिकों की सूची में तीसरी बार जगह बनाकर अंतर्राष्ट्रीय फलक पर पहचान बनाई है। अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी की टीम ने उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ दो फीसदी वैज्ञानिकों में शामिल किया है । उनकी इस उपलब्धि से जहां जिले का नाम रोशन हुआ है । वहीं स्वजनों व रिश्तेदारों में खुशी की लहर है।



स्टैनफोर्ड विश्विद्यालय अमेरिका की हालिया रिपोर्ट के अनुसार विशेषज्ञता के विभिन्न क्षेत्रों में दुनिया के शीर्ष दो फीसद वैज्ञानिकों में बेल्हा के प्रोफेसर दिनेश विश्वकर्मा को स्थान दिया गया है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ओवरऑल रिसर्च श्रेणी में उन्हें 19340वां स्थान मिला है। जबकि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और इमेज प्रोसेसिंग की रिसर्च श्रेणी में उनकी 690वां स्थान है। वहीं विश्वविद्यालय में प्रथम स्थान मिला है। इसके पहले प्रोफेसर दिनेश विश्वकर्मा को यह गौरव 2021 व 2022 में भी प्राप्त हो चुका है। प्रोफेसर दिनेश विश्वकर्मा प्रतापगढ़ जिले के मांधाता विकास खंड के चमरुपुर पठान गांव के रहने वाले है। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा प्रतापगढ़ में की है। वर्तमान में वह दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख के रूप में कार्यरत हैं। वह विश्वविद्यालय छात्रावास के प्रमुख भी हैं। उनके वर्तमान शोध क्षेत्र में डेटा का दुर्भावनापूर्ण हेरफेर, फर्जी समाचार विश्लेषण, घृणास्पद भाषण का पता लगाना, भावना विश्लेषण, मल्टीमॉडल डेटा विश्लेषण, मानव गतिविधि पहचान और भीड़ व्यवहार विश्लेषण शामिल हैं। उन्होंने आंतरिक पत्रिकाओं और सम्मेलनों में लगभग 175 शोध पत्र प्रकाशित किए हैं। उनके उत्कृष्ट शोध के लिए उन्हें 2017 से लगातार विश्वविद्यालय से रिसर्च एक्सीलेंस अवार्ड भी मिल रहा है। प्रोफेसर दिनेश को यह सम्मान मिलने के बाद जहां पत्नी सुषमा, बेटी दिया, अद्विका, भाई डीएवी कालेज के प्रधानाचार्य अवधेश विश्वकर्मा, भाभी शिक्षिका शिव कुमारी, सत्यभामा, शिक्षिका पार्वती विश्वकर्मा, भतीजे अनूप, शिक्षक जीतेंद्र विश्वकर्मा, धीरेंद्र, भतीजी शालिनी, अंतिमा आदि स्वजन बेहद खुश हैं । वहीं उनकी ससुराल कुंडा के चौंसा में सास शांती देवी, डा. एमएल विश्वकर्मा, डा. रश्मि शर्मा, रामसूरत विश्वकर्मा, पुष्पा देवी, भतीजे पत्रकार कुलदीप कुमार, दिलीप, प्रदीप विश्वकर्मा प्रधान, रंजीत, विजय, प्रियांशू, दक्ष, दर्शी आदि ने खुशी जताई है। फिलहाल प्रोफेसर दिनेश के द्वारा अंतर्राष्ट्रीय फलक पर नाम रोशन करने से क्षेत्र व समाज के लोग गर्व भी महसूस कर रहे हैं और उन्हे इस उपलब्धियों के लिए शुभकामनाएं दे रहे हैं।

コメント


bottom of page